Hitopadesha Tales

Welcome to the online database of short stories. Here you can Read, publish, listen, share or download short stories for free organized by various themes. Tales, Folklore, Fables, Fairy Tales, Classics and Literature Shorts; this is one stop destination for all kind of short stories.

literature

Mowgli’s SongNew

Part 8 of 8 stories in The Jungle Book

The Song of Mowgli—I, Mowgli, am singing. Let the jungle
listen to the things I have done.

Shere Khan said he would kill—would kill! At the gates in the
twilight he would kill Mowgli, the Frog!

He ate and he drank. Drink deep, Shere Khan, for when wilt thou
drink again? Sleep and dream of the kill.

literature

MaaNew

Part 3 of 3 stories in Mansarovar Part 1

आज बन्दी छूटकर घर आ रहा है। करुणा ने एक दिन पहले ही घर लीप-पोत रखा था। इन तीन वर्षों में उसने कठिन तपस्या करके जो दस-पाँच रूपये जमा कर रखे थे, वह सब पति के सत्कार और स्वागत की तैयारियों में खर्च कर दिये। पति के लिए धोतियों का नया जोड़ा लायी थी, नये कुरते बनवाये थे, बच्चे के लिए नये कोट और टोपी की आयोजना की थी। बार-बार बच्चे को गले लगाती ओर प्रसन्न होती। अगर इस बच्चे ने सूर्य की भाँति उदय होकर उसके अंधेरे जीवन को प्रदीप्त न कर दिया होता, तो कदाचित् ठोकरों ने उसके जीवन का अंत कर दिया होता। पति के कारावास-दण्ड के तीन ही महीने बाद इस बालक का जन्म हुआ।

literature

A Black Affair

“I didn’t want to bring it,” said Captain Gubson, regarding somewhat unfavourably a grey parrot whose cage was hanging against the mainmast, “but my old uncle was so set on it I had to. He said a sea-voyage would set its ‘elth up.”

“It seems to be all right at present,” said the mate, who was tenderly sucking his forefinger; “best of spirits, I should say.”

“It’s playful,” assented the skipper. “The old man thinks a rare lot of it. I think I shall have a little bit in that quarter, so keep your eye on the beggar.”

literature

Idgah

Part 2 of 3 stories in Mansarovar Part 1

रमजान के पूरे तीस रोजों के बाद ईद आयी है। कितना मनोहर, कितना सुहावना प्रभाव है। वृक्षों पर अजीब हरियाली है, खेतों में कुछ अजीब रौनक है, आसमान पर कुछ अजीब लालिमा है। आज का सूर्य देखो, कितना प्यारा, कितना शीतल है, यानी संसार को ईद की बधाई दे रहा है। गाँव में कितनी हलचल है। ईदगाह जाने की तैयारियाँ हो रही हैं। किसी के कुरते में बटन नहीं है, पड़ोस के घर में सुई-धागा लेने दौड़ा जा रहा है। किसी के जूते कड़े हो गए हैं, उनमें तेल डालने के लिए तेली के घर पर भागा जाता है।

“Tiger! Tiger!”

“Tiger! Tiger!”

Part 7 of 8 stories in The Jungle Book

What of the hunting, hunter bold?
Brother, the watch was long and cold.
What of the quarry ye went to kill?
Brother, he crops in the jungle still.
Where is the power that made your pride?
Brother, it ebbs from my flank and side.
Where is the haste that ye hurry by?
Brother, I go to my lair—to die.

literature

Algyojha

Part 1 of 3 stories in Mansarovar Part 1

भोला महतो ने पहली स्त्री के मर जाने बाद दूसरी सगाई की तो उसके लड़के रग्घू के लिये बुरे दिन आ गये। रग्घू की उम्र उस समय केवल दस वर्ष की थी। चैन से गाँव में गुल्ली-डंडा खेलता फिरता था। माँ के आते ही चक्की में जुतना पड़ा। पन्ना रुपवती स्त्री थी और रुप और गर्व में चोली-दामन का नाता है। वह अपने हाथों से कोई काम न करती। गोबर रग्घू निकालता, बैलों को सानी रग्घू देता। रग्घू ही जूठे बरतन माँजता। भोला की आँखें कुछ ऐसी फिरीं कि उसे अब रग्घू में सब बुराइयाँ-ही- बुराइयाँ नजर आतीं।